United Nations and its specialized agencies | UN Hindi Notes

United Nations and its specialized agencies

United Nations

In this article, we are providing complete information about the United Nations and United Nations agencies in Hindi.

United nations organization is an intergovernmental organization that aims to preserve worldwide peace and security.

also, UN goals create neighborly relations among countries, accomplish universal participation, and be a center for harmonizing the activities of countries.

Every year we are celebrating 24 October as a united nation day.

In this day UN secretary-general, Antonio Guterres (current un secretary-general) will Address the united nation council and un members.

UN headquarters

UN headquarters are in various countries such as New York, United States, Geneva etc.

In this article, we also provide information on UN headquarters.

United nations purpose

In this Article, information regarding the United nations purpose and un development goals, what is United nations purpose?

UN sustainable development goals are

  • United nations children’s fund – Arranging funds for children education and their development
  • climate change – UN also working for climate change.
  •  Rights of the child – UN is also working for Children’s right such as the right to education etc.
  • human rights council – UN has un human rights council which is mainly working for human rights

UN agenda 2030

The UN 2030 Agenda predicts “a world of universal respect for human rights and human dignity, the rule of law, justice, equality and non-discrimination”.


इस लेख United Nations and its specialised agencies (संयुक्त राष्ट्र एवं उसकी विशिष्ट एजेंसियां) के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की जा रही United Nations and its specialized agencies (संयुक्त राष्ट्र एवं उसकी विशिष्ट एजेंसियां) सभी परीक्षाओं में मुख्य रूप से पूछा जाने वाला विषय है।

United Nations and its specialised agencies(संयुक्त राष्ट्र एवं उसकी विशिष्ट एजेंसियां) में हम विभिन्न प्रकार की संस्थाओं के बारे में जानेगे।

United Nations and its specialized agencies - संयुक्त राष्ट्र एवं उसकी विशिष्ट एजेंसियां contents

 

संयुक्त राष्ट्र संघ (यूएनओ)

United Nations

  • राष्ट्र संघ की (United Nations) स्थापना प्रथम विश्व युद्ध (1914-18) के उपरांत, अंतराष्ट्रीय शांति तथा सुरक्षा की भावना को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य सेकी गयी थी।
  • द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति के उपरांत 1946 में इस संगठन को भंग करके इसकी संपत्ति व कार्यों को ‘संयुक्त राष्ट्र संघ’ नामक नये संगठन को स्थानांतरित कर दिया गया। 25 अप्रैल, 1945 को 50 देशों के प्रतिनिधि सामूहिक रूप से सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए सैनफ्रांसिस्को में एकत्र हुए, जिसे औपचारिक रूप से एक अंतर्राष्ट्रीय संगठन के निर्माण हेतु संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के नाम से जाना जाता है।
  • 25 जून, 1945 को सैनफ्रांसिस्को में सभी 50 देशों के प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से ‘संयुक्त राष्ट्र संविदा पत्र’ (Charter) को स्वीकार किया और अगले ही दिन अर्थात् 26 जून, 1945 को उन्होंने सामूहिक रूप से इस पर हस्ताक्षर किये।
  • संयुक्त राष्ट्र संविदा पत्र (चार्टर) 24 अक्टूबर, 1945 को विधिवत् अपने पूर्ण प्रभाव में आ गया। संयुक्त राष्ट्र का संविदा पत्र ही, इस संगठन का मौलिक संविधान है। इस संविधान में कुल 19 अध्याय हैं, जो 3 अनुच्छेदों में विभाजित हैं।
  • इसका लक्ष्य अतर्राष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को बरकरार रखते हुए, एक साथ मिलकर सामाजिक प्रगति के लिए कार्य करना है।
  • संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations) अपने समस्त आधिकारिक कार्य 6 भाषाओं – अरबी, चीनी, अंग्रेजी, फ्रेंच, रूसी तथा स्पेनिश में करता है।
  • वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र संघ के सदस्यों की कुल संख्या 193 है। 193वां देश दक्षिण सूडान है, 190वां, 191वां और 193वां सदस्य क्रमशः स्विट्जरलैंड, पूर्वी तिमोर और मोंटेनेग्रो हैं।
  • संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations) के 6 प्रमुख अंग हैं:
    • महासभा,
    • सुरक्षा परिषद्,
    • सचिवालय,
    • आर्थिक व सामाजिक परिषद्,
    • न्यासी परिषद्
    • अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय।
  • संयुक्त राष्ट्र संविधान द्वारा महासभा को विशिष्ट अभिकरणों के साथ सामंजस्य स्थापित करने और सुरक्षा परिषद् को शांति सेना के गठन का अधिकार प्रदान किया गया है।
  • संयुक्त राष्ट्र महासभा ‘सारे विश्व की नगर बैठक’ कहलाती है। इसका वार्षिक अधिवेशन सितंबर से दिसंबर तक चलता है जिसमें महत्त्वपूर्ण निर्णय उपस्थित और मतदान करने वाले सदस्यों के दो-तिहाई बहुमत से होता है।
  • सुरक्षा परिषद में कल 15 सदस्य होते हैं जिसमें से 5 (चीन, ब्रिटेन, रूस, फ्रांस और अमेरिका) स्थायी सदस्य हैं और 10 अस्थायी सदस्य हैं जो हर दो वर्ष पर बदलते रहते हैं।
  • संयुक्त राष्ट्र (United Nations) का मुख्यालय न्यूयॉर्क (अमेरिका) में है।
  • संयुक्त राष्ट्र आर्थिक व सामाजिक परिषद् की स्थापना के समय इसके मूल सदस्यों की संख्या 18 थी।
  • 1966 में इसकी सदस्य संख्या बढ़ाकर 27 और 1980 में 54 कर दी गयी।
  • इस इकाई के सदस्य 3 वर्ष की समयावधि के लिए महासभा द्वारा चुने जाते हैं।
  • इसके लिए प्रतिवर्ष एक-तिहाई नये सदस्यों का चनाव होता है।
  • कुल 54 सदस्यों में से 14 अफ्रीका से, 11 एशिया से.6 पूर्वी यरोप से, 13 पश्चिमी यूरोप से, 10 लैटिन अमेरिका एवं कैरिबियाई देशों से होते हैं।
  • इस परिषद् के अंतर्गत यूरोपीय आर्थिक समुदाय (ECE), जेनेवा; एशिया व प्रशांत महासागरीय आर्थिक-सामाजिक आयोग (ESCAP),बैंकाक; लैटिन अमेरिका आर्थिक आयोग (ECWA) बगदाद जैसे आयोग कार्य करते हैं।

 

 

अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (International Court of Justice)-

United Nations - International Court of Justice

  • जिसे विश्व न्यायालय के नाम से भी जाना जाता है, संयुक्त राष्ट्र (United Nations) का एक प्रमुख न्यायिक अंग है।
  • इसकी स्थापना संयुक्त राष्ट्र चार्टर के अंतर्गत 1945 में,लीग ऑफ नेशन्स’ की अधिकारिता वाले ‘अंतर्राष्ट्रीय न्याय हेतु स्थायी न्यायालय’ का स्थान लेने के उद्देश्य से की गयी थी।
  • इस न्यायालय का मुख्यालय नीदरलैंड की राजधानी हेग में स्थित है।
  • अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय, सभ्य राष्ट्रों तथा अंतर्राष्ट्रीय परंपराओं व संधियों के नियमों के अंतर्गत द्विपक्षीय विवादों का निपटारा करता है।
  • इस न्यायालय में 15 न्यायाधीश होते हैं।
  • प्रत्येक का चुनाव सुरक्षा परिषद् तथा साधारण सभा के स्पष्ट बहुमत द्वारा किया जाता है और सुरक्षा परिषद् तथा साधारण सभा, एक-दूसरे से स्वतंत्र रूप से मतदान करते हैं।
  • न्यायाधीशों का चयन नौ वर्ष के कार्यकाल के लिए किया जाता है।

 

संयुक्त राष्ट्र शांति सेना (यूएन पीएफ)

संयुक्त राष्ट्र शांति सेना (यूएन पीएफ)

  • सन् 1956 तक ‘संयुक्त राष्ट्र आपात सेना’ (यूनेफ) के नाम से जानी जाती थी।
  • तत्कालीन संयुक्त राष्ट्र महासचिव डैग हैमरशोल्ड (1953-61) ने ‘यूनेफ’ का नाम परिवर्तित कर इसे पीस कीपिंग फोर्स’ (शांति सेना) का नाम दिया। तब से संयुक्त राष्ट्र आपात सेना का नाम ‘संयुक्त राष्ट्र शांतिसेना’ (UNPKF) हो गया।
  • संयुक्त राष्ट्र शांति सेना ने अपनी पहली कार्रवाई 1948 में मध्य-पूर्व में की, तब से लेकर अब तक (2010) संयुक्त राष्ट्र शांति दल विश्व भर में कुल 64 से अधिक कार्रवाइयां कर चुका है।
  • अधिकांश शांति स्थापना कार्रवाइयां मध्य-पूर्व में ही केंद्रित रही हैं, जिनका प्रमुख उद्देश्य प्रतिद्वन्द्वी देशों के बीच युद्ध-विराम के बाद हिंसक विवादों को दोबारा पनपने से रोकना था।
  • ये कार्रवाइयां संयुक्त राष्ट्र संघ चार्टर के अनुच्छेद 6 के तहत की गयीं, जिनमें संयुक्त राष्ट्र कमान के अधीन हल्के अस्त्रों से लैस अधिकतम पांच हजार सैनिक तैनात किये जाने का प्रावधान रखा गया है।
  • इन शांति कार्रवाइयों पर आने वाले खर्च की व्यवस्था सभी सदस्य देशों द्वारा की जाती है।
  • अभियान के दौरान सैनिक व असैनिक कर्मचारी आदि अपने देश की वर्दी ही पहनते हैं।
  • अभियान के अंग के रूप में वे केवल संयुक्त राष्ट्र के हेलमेट तथा लोगों (प्रतीक चिन्ह) से पहचाने जाते हैं।
  • संयुक्त राष्ट्र शांति सेना सर्वप्रथम कोरिया (1950) में स्थापित की गयी थी और वह संयुक्त राज्य अमेरिका के नियंत्रण में थी।
  • भारतीय सेना ने वर्ष 1950 में पहली बार संयुक्त राष्ट्र शांति अभियान में भाग लिया था और वर्ष 2005 में सूडान में सैन्य अभियान का हिस्सा बनते ही भारत संयुक्त राष्ट्र शांति सेना में सर्वाधिक योगदान करने वाला देश बन गया था।

 

 

खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ)

खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ)

  • खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO: Food & Agricultural Organisation) संयुक्त राष्ट्र संघ की एक संस्था है।
  • वर्तमान में इसकी सदस्य संख्या 193 है। इसका मुख्यालय रोम, (इटली) में स्थित है।
  • इसकी स्थापना कनाडा के क्यूबेक शहर में द्वितीय विश्व युद्ध के बाद भूख और कुपोषण से लड़ने के उद्देश्य से वर्ष 1945 में की गयी थी।
  • यह खाद्य, कृषि, वानिकी, मात्स्यिकी तथा अन्य संबंधित मुद्दों पर विकासात्मक कार्यों को करने वाला संयुक्त राष्ट्र का पहला विशिष्ट अभिकरण है।
  • इसके साथ ही यह विकासशील देशों की शैक्षिक उन्नति तथा अधःसंरचना के विकास में भी सहायता करता है।
  • यह फाओ कांफ्रेंस ऑफ मेम्बर नेशन (फाओ सदस्य राष्ट्रों की सभा) द्वारा शासित होता है।
  • यही सभा संस्था की नीतियों एवं कार्यक्रमों को सूचीबद्ध करती है। यह सभा हर दो वर्ष पर बुलायी जाती है।
  • एएफओ विकासशील देशों को बेहतर बीज, उर्वरक, मृदा संरक्षण, पुनर्वनीकरण, जल संसाधन, प्रबंधन तकनीक, भंडारण सुविधा और प्रसंस्करण तथा विपणन की सुविधा मुहैया कराकर सहायता करता है।
  • 1979 में यह निर्धारित किया गया कि प्रतिवर्ष 16 अक्टूबर को विश्व खाद्यान्न दिवस के रूप में मनाया जायेगा।
  • पहला विश्व खाद्यान दिवस 1981 में मनाया गया था।

 

 

अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए)

अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए)

  • द्वितीय विश्व युद्ध में हिरोशिमा और नागासाकी पर हुई परमाणु त्रासदी के बाद दुनिया को परमाणु त्रासदी से बचाने के लिए 8 दिसम्बर, 1953 को संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा में ‘एटम फॉर पीस’ नामक एक प्रस्ताव रखा गया, जिसमें परमाणु शक्ति के प्रसार की रोकथाम के लिए एक संगठन के निर्माण की बात कही गयी।
  • तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डी. आइजेनहॉवर ने यह प्रस्ताव महासभा में रखा था।
  • एक लंबी कवायद के बाद दुनिया के 81 देशों ने मिलकर 29 जुलाई, 1957 को ‘अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी’ (आईएईए) का गठन किया।
  • इसका मख्यालय ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में है। इसके क्षेत्रीय कार्यालय वर्तमान में जेनेवा, न्यूयॉर्क, टोरंटो एवं टोक्यो में है।
  • इस एजेंसी का प्रमख डायरेक्टर जनरल होता है।
  • वर्तमान में जापान के यूकियो अमानो इसके डायरेक्टर जनरल (महानिदेशक) हैं।
  • आईएईए के सदस्यों की संख्या 2009 में 151 हो गयी है।
  • वर्ष 2008 में नेपाल इसका सदस्य बना।
  • यह संयुक्त राष्ट्र का विशिष्ट अभिकरण नहीं है।
  • यह संयुक्त राष्ट्र से संबद्ध एक स्वायत्त अंतर्राष्ट्रीय संगठन है।
  • इस संगठन का उद्देश्य संपूर्ण विश्व में शांति, स्वास्थ्य एवं समृद्धि के लिए आणविक ऊर्जा के योगदान को विस्तारित एवं प्रोत्साहित करना है।

 

अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओ – ILO)

अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओ - ILO)

  • श्रम समानता, श्रम शांति, श्रम की अहमियत जैसे बुनियादी लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए तथा इनके प्रति विश्व जनमत को जागृत करने के लिए विश्व के विभिन्न भागों में श्रमिकों, नियोजकों, उद्योगपतियों तथा सरकारों के बीच परस्पर सहयोग, संवाद एवं सार्थक सामंजस्य बैठाने के उद्देश्य से इसका 1919 में किया गया।
  • अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन की स्थापना के परिप्रेक्ष्य में फ्रांसीसी उद्यमी तथा अंतर्राष्ट्रीय श्रम कानूनों के जानकार डेनियल ली ग्रैंड की प्रमुख भूमिका थी।
  • ज्यूरिख (1897) में संपन्न ‘प्रथम अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक सुरक्षा सम्मेलन’ में अंतर्राष्ट्रीय श्रम कानून बनाये जाने पर आम सहमति बनी।
  • 1919 के शांति सम्मेलनों में अंतर्राष्ट्रीय श्रम कानूनों से संबंधित एक आयोग गठित किया गया। इस आयोग में सरकारों, मजदूर संघों तथा नियोक्ताओं के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।
  • अमेरिकी श्रम संघ के नेता सैमुअल गोम्पर्स की अध्यक्षता में इस आयोग द्वारा तैयार विभिन्न श्रम संबंधी नियमों की रूपरेखा को ब्रुसेल्स संधि के तेरहवें भाग में अपनाया गया तथा अतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन का उदय हुआ।
  • अंतर्राष्ट्रीय श्रम सम्मेलन की बैठक वर्ष में एक बार आयोजित की जाती है।

 

 

विश्व बैंक (डब्ल्यूबी)

विश्व बैंक (डब्ल्यूबी)

  • अंतर्राष्ट्रीय पुनर्निर्माण एवं विकास बैंक (IBRD) की स्थापना ब्रेटनवुड्स समझौते (जुलाई 1944) के तहत हुई और 27 दिसंबर, 1945 को इसका विधिवत्उद्घाटन हुआ। इस बैंक का मुख्यालय वाशिंगटन डी.सी. में है।
  • आईबीआरडी को अन्य सहयोगी संस्थाओं के साथ मिलाकर World Bank ‘विश्व बैंक’ के नाम से जाना जाता है।
  • वर्तमान में विश्व बैंक के अंतर्गत अंतर्राष्ट्रीय विकास संघ (आईडीए), अंतर्राष्ट्रीय वित्त निगम (आईएफसी), बहुपक्षीय निवेश गारंटी संस्था (एमआईजीए), निवेश विवादों को सुलझाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय केन्द्र (आईसीएसआईडी) शामिल हैं।
  • अमेरिका ने 1944 में एक अंतर्राष्ट्रीय कोष की स्थापना का प्रस्ताव रखा, जिसे ‘ह्वाइट प्लान’ के नाम से जाना जाता है। इसी के आसपास ब्रिटेन ने भी ‘कीन्स योजना’ के नाम से एक प्रस्ताव रखा, जिसका उद्देश्य एक अंतर्राष्ट्रीय समाशोधन संघ की स्थापना करना था।
  • इन दोनों प्रस्तावों पर जुलाई 1944 में 44 देशों के प्रतिनिधियों ने ब्रटेनवुड्स अधिवेशन में विश्व बैंक और अंतर्राष्ट्रीय मद्रा कोष (आईएमएफ) के गठन पर सहमति बनी।
  • विश्व बैंक कम विकसित देशों के विकास और अर्थव्यवस्था के पुनर्निर्माण के लिए ऋण प्रदान करता है।
  • विश्व बैंक के वर्तमान में कुल 185 सदस्य हैं।
  • यदि कोई सदस्य देश अपनी सदस्यता छोड़ता है, तो उसे देय तिथियों पर ब्याज सहित समस्त ऋण वापस करने पड़ते हैं। जिस वर्ष में कोई सदस्य त्यागपत्र देता है, यदि उस वर्ष में बैंक को कोई हानि होती है, तो मांग पर उसे हानि के अपने हिस्से का भी भुगतान करना पड़ता है।
  • विश्व बैंक का ढांचा त्रिस्तरीय है। इसका एक अध्यक्ष होता है. दूसरे स्तर पर अधिशासी निदेशक होते हैं और तीसरे स्तर पर शासक मंडल होता है। विश्व बैंक का अध्यक्ष डेविड मल्पास (David Malpass) हैं।

 

 

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ – IMF)

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ - IMF)

  • अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) का प्रादुर्भाव ब्रेटनवुड्स समझौते के तहत 27 दिसम्बर, 1945 को हुआ था।
  • नवंबर 1947 में यह संयक्त राष्ट (United Nations) का विशिष्ट अभिकरण बना। इसका मुख्यालय वाशिंगटन डी.सी. में है वर्तमान में आईएमएफ में 185 सदस्य देश हैं।
  • जर्मनी की क्रिस्टीन लेगार्ड अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के प्रबंध निदेशक हैं।
  • इसके उद्देश्यों में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा संबंधी समस्याओं की दिशा में परामर्श तथा सहयोग, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के संतुलित विकास तथा विस्तार के कार्य को प्रोत्साहित करके रोजगार तथा वास्तविक आय के स्तर को ऊंचा उठाना, विनिमय स्थायित्व को प्रोत्साहित करना, सदस्य देशों के प्रतिकूल भुगतान संतुलन को ठीक करने के लिए अस्थायी तौर पर आर्थिक सहायता प्रदान करना शामिल हैं।
  • अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के संसाधनों में सर्वाधिक महत्त्व सदस्य देशों को आवंटित कोटे को है। 1971 तक मुद्रा कोष के समस्त कोटे तथा इससे निकाली जाने वाली सहायता राशियों को डॉलर के रूप में व्यक्त किया जाता था।
  • 1971 से अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के समस्त लेन-देन विशेष आहरण अधिकार (Special Drawing Right-SDR) के रूप में व्यक्त किये जाने लगे हैं।
  • 1 जनवरी, 1981 से एसडीआर का मूल्य पांच सबसे बड़े निर्यातक सदस्य देशों की मुद्राओं (अमेरिकी डॉलर, मार्क, येन, फ्रैंक, पाउण्ड स्टर्लिंग) की पिटारी के आधार पर निर्धारित किया जाने लगा है।
  • एसडीआर को कागजी स्वर्ण के नाम से भी जाना जाता है।

 

संयुक्त राष्ट्र व्यापार व विकास सम्मेलन (United Nation’s Conference on Trade and Development) (अंकटाड)

United Nations Conference on Trade and Development headquarters

  • अंकटाड (United Nation’s Conference on Trade and Development) की स्थापना 1964 में की गयी थी।
  • इसका मुख्यालय जेनेवा (स्विट्जरलैंड) में स्थित है।
  • प्रति चार वर्ष पर इसका अधिवेशन बुलाया जाता है।
  • अंकटाड के सदस्यों की कल संख्या 193 है।
  • अंकटाड के प्रमुख उद्देश्यों में अंतर्राष्ट्रीय व्यापार तथा वाणिज्य को बढ़ावा देना, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार एवं आर्थिक विकास से संबद्ध आवश्यक सिद्धातों का प्रतिपादन करना तथा नीति निर्धारित करना, निर्धारित सिद्धांतों एवं नीतियों को कार्यान्वित करने के लिए आवश्यक प्रस्ताव प्रस्तुत करना, संयक्त राष्ट संघ (United Nations) की महासभा तथा आर्थिक एवं सामाजिक परिषद् को आवश्यक सहयोग प्रदान करना शामिल हैं।
  • यह संयुक्त राष्ट्र महासभा का एक स्थायी संगठन है।
  • इसके सदस्यों की कुल संख्या 55 हैं, जो समान भौगोलिक वितरण के आधार पर सम्मेलन के सदस्यों में से चुने गये हैं।
  • प्राथमिक वस्तुओं, निर्मित और अर्द्धनिर्मित वस्तुओं, वित्त विकास तथा पोत-लदान और बीमा सहित अमूर्त व्यापार से संबंधित चार सहायक समितियां बोर्ड के कार्य में सहायता करती हैं।
  • अंकटाड द्वारा प्रत्येक वर्ष निवेश और व्यापार के संदर्भ में एक रिपोर्ट जारी की जाती है।

 

 

विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ – WTO)

विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ - WTO)

  • विश्व व्यापार संगठन (WTO) की स्थापना 1 जनवरी, 1995 को गैट के स्थान पर की गयी।
  • इसका मुख्यालय जेनेवा में है।
  • विश्व व्यापार संगठन एक स्थायी अंतर्राष्ट्रीय संगठन है, जिसकी स्थापना सदस्य राष्ट्रों की संसदों द्वारा अनुमोदित एक अंतर्राष्ट्रीय संधि के अनुसार हुई है।
  • आर्थिक जगत में इसकी स्थिति अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष और विश्व बैंक के ही तुल्य है, किंतु अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष और विश्व बैंक की तरह यह संयुक्त राष्ट्र संघ की एक एजेंसी नहीं है।
  • गैट समझौते के तहत यदि कोई विवाद पैदा होता है, तो उसे डब्ल्यूटीओ के समक्ष लाने की व्यवस्था की गयी है।
  • दिन प्रतिदिन के प्रशासकीय कार्यों को सम्पन्न करने के लिए डब्ल्यूटीओ का सर्वोच्च पदाधिकारी महानिदेशक होता है, जो 4 वर्ष के लिए चुना जाता है। डब्ल्यूटीओ का प्रथम मंत्रिस्तरीय सम्मेलन 1996 में सिंगापुर में हुआ था।
  • वर्ष 2012 तक इसकी कुल सदस्य संख्या 157 थी।
  • डब्ल्यूटीओ के कार्य संचालन के लिए सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण दो समितियां (विवाद निवारण समिति तथा व्यापार नीति समीक्षा समिति) हैं।

 

 

अंतर्राष्ट्रीय कृषि विकास कोष (आईएफएडी)

अंतर्राष्ट्रीय कृषि विकास कोष (आईएफएडी)

  • अंतर्राष्ट्रीय कृषि विकास कोष (International Fund For Agricultural Development : IFAD) संयुक्त राष्ट्र (United Nations) का एक विशेष अभिकरण है, जिसकी स्थापना 1977 में की गयी। इसका उद्देश्य गरीब ग्रामीण लोगों के बेहतर जीवन को सुनिश्चित करना है।
  • इसके लिए यह प्राकृतिक संसाधनों के बेहतर प्रबंधन को प्रोत्साहित करता है, कृषि संबंधी प्रौद्योगिकी को संवर्द्धित करने में सहायता करता है तथा इसके लिए जरूरी वित्त मुहैया कराता है।
  • इसका मुख्यालय रोम में स्थित है।
  • इस संगठन की सदस्यता संयुक्त राष्ट्र या उसके विशेष अभिकरणों या अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के सदस्यों के लिए खुली रहती है।
  • इसकी प्रशासनिक परिषद्आ ईएफएडी का सर्वोच्च नीति निर्धारक प्राधिकरण है, जिसमें सदस्यों की वर्तमान संख्या 165 है।
  • इसके वर्तमान अध्यक्ष तोको के Gilbert Houngbo हैं, -जिनका 1 अप्रैल, 2017 को निर्वाचन हुआ।

 

 

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (United nations environment programme headquarters)

united nations environment programme headquarters

  • संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) पर्यावरण और इससे संबंधित मामलों के प्रति अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से इसकी स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 1972 में की गयी थी।
  • इसका मुख्यालय केन्या की राजधानी नैरोबी में है।
  • यूएनईपी का प्रमुख कार्य इसके एक कार्यक्रम अर्थवाच की सहायता से पर्यावरण की निगरानी करना, पर्यावरणीय प्रवृत्तियों का विश्लेषण करना, पर्यावरण सबंधी जानकारी का एकत्रण एवं प्रसार करना, पर्यावरण संबंधी नीतियां बनाना तथा विकासशील देशों की आवश्यकताओं एवं प्राथमिकताओं के अनुसार पर्यावरण सुरक्षा परियोजनाओं का क्रियान्वयन करना है।
  • यह संस्था संयुक्त राष्ट्र की अन्य संस्थाओं के साथ मिलकर कार्य करती है।
  • इसका विश्व के 6000 से अधिक गैर-सरकारी संगठनों के साथ भी संबंध है।
  • जून 1972 में स्टॉकहोम में मानव पर्यावरण पर एक सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें मानव के एक स्वस्थ पर्यावरण में रहने का अधिकार तथा भविष्य की पीढ़ी के लिए पर्यावरण एक संरक्षण एवं सुधार के प्रति उनकी जिम्मेदारी की घोषणा की गयी।
  • 1992 में ब्राजील के रियो डी जेनरियो में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण एवं विकास सम्मेलन (पृथ्वी सम्मेलन) के आयोजन में अन्य एजेंसियों के साथ मिलकर कार्य किया।
  • इस सम्मेलन में सतत् विकास को बढ़ावा देने के लिए ‘एजेंडा 21’ नामक एक कार्यक्रम स्वीकार किया गया।

 

अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संघ

अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संघ

  • यह संगठन अप्रैल 1947 में संयुक्त राष्ट्र का एक विशिष्ट अभिकरण बना।
  • इसका उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन की समस्याओं का अध्ययन, इस संबंध में अंतर्राष्ट्रीय मानदंड एवं नियम-विनियम बनाना तथा अंतर्राष्ट्रीय वायु यातायात को सुरक्षित एवं उपयोगी बनाना है।
  • यह वास्तव में एक तकनीकी संगठन है।
  • इसका मुख्यालय माट्रियल (कनाडा) में स्थित है।

 

 

 

अंतर्राष्ट्रीय सामुद्रिक संगठन

अंतर्राष्ट्रीय सामुद्रिक संगठन

  • अंतर्राष्ट्रीय सामुद्रिक संगठन (International Martitime Organization: IMO) की स्थापना 1959 में की गयी।
  • 17 मार्च, 1948 को संयुक्त राष्ट्र (United Nations)  के तत्वावधान में आयोजित जेनेवा कन्वेंशन के अनुसार इस संगठन का गठन किया गया है।
  • आईएमओ को पहले अन्तर-सरकारी सामुद्रिक सलाहाकार संगठन के नाम से जाना जाता था।
  • 1982 में इसका नाम बदलकर अंतर्राष्ट्रीय सामद्रिक संगठन किया गया। आईएमओ का यह नारा इसके उद्देश्य को इंगित करता है- स्वच्छ समुद्र में सुरक्षित, संरक्षित
    एवं कुशल जहाजरानी।
  • इस समय इसके 170 पूर्णकालिक सदस्य तथा 3 सम्बद्ध सदस्य हैं।
  • इसका सचिवालय लंदन में स्थित है। भारत 1959 से ही इस संगठन का सदस्य है।
  • आईएमओ प्रत्येक वर्ष विश्व सामुद्रिक दिवस (World Maritime Day) 27 सितंबर मनाता है।

 

 

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम

  • संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP: United Nation’s Development Programme) संयुक्त राष्ट्र का वैश्विक विकास नेटवर्क है।
  • यह संयुक्त राष्ट्र (United Nations) महासभा के अंदर एक कार्यकारी बोर्ड है।
  • संयुक्त राष्ट्र में यूएनडीपी के प्रशासक की रैंकिंग तीसरी है।
  • पहली रैंक संयुक्त राष्ट्र महासचिव की और दूसरी रैंक उपमहासचिव की होती है।
  • यूएनडीपी का गठन 1965 में किया गया। इसका मुख्यालय न्यूयॉर्क में स्थित है।
  • 166 देशों में इसके कार्यालय विद्यमान हैं, जो स्थानीय सरकारों के साथ मिलकर विकासात्मक चुनौतियों से निपटते हैं।
  • यूएनडीपी प्रमुखत: निम्न पांच विकासात्मक चुनौतियों से निपटने पर ध्यान केन्द्रित करता है- प्रजातांत्रिक सुशासन, गरीबी उन्मूलन, संकट से बचाव, पर्यावरण एवं ऊर्जा तथा एचआईवी/एड्स ।
  • यूएनडीपी 1990 से प्रतिवर्ष मानव विकास सूचकांक पर आधारित मानव विकास रिपोर्ट प्रकाशित करता है।
  • इसकी प्रमुख अचीम स्टेनर हैं।

 

संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन

संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन

  • संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन (यूनिडो) की स्थापना 17 नवंबर, 1966 को हुई। वैसे यह संगठन 1 जनवरी, 1967 से प्रभाव में आया।
  • 1985 में इसको संयुक्त राष्ट्र का विशेष अभिकरण बनाया गया।
  • इस संगठन का उद्देश्य सदस्य देशों के बीच औद्योगिक विकास संवर्धन के लिए परस्पर सहयोग विकसित करना है।
  • इसका मुख्यालय वियना (ऑस्ट्रिया) में स्थित है। वर्तमान में इसके सदस्य देशों की संख्या 172 है।
  • यह संगठन तीन अंतर्संबंधित प्राथमिकताओं पर ध्यान केन्द्रित करता है- उत्पादन गतिविधियों के माध्यम से गरीबी में कमी, व्यापार क्षमता का निर्माण तथा ऊर्जा एवं पर्यावरण। इसके प्रमुख Kandeh Yumkella, Li Yong हैं।

 

 

 

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष

  • संयुक्त राष्ट्र आम सभा ने 11 दिसंबर, 1946 को संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) की स्थापना की।
  • इसका उद्देश्य द्वितीय विश्व युद्ध से प्रभावित विभिन्न देशों के बच्चों के भोजन और स्वास्थ्य के लिए आपात राहत पहुंचना था।
  • 1953 में यूनिसेफ संयुक्त राष्ट्र का स्थायी हिस्सा हो गया।
  • इसका मुख्यालय न्यूयॉर्क में स्थित है।
  • यूनिसेफ को 1965 में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • यूनिसेफ के लिए वर्तमान में प्राथमिकता के प्रमुख पांच क्षेत्र हैं- शिशु जीविता एवं विकास; बुनियादी शिक्षा एवं लिंग समानता; हिंसा, शोषण एवं व्यसन से बच्चों की सुरक्षा; एचआईवी/एड्स व बच्चे तथा बाल अधिकार की रक्षा।
  • इसके प्रमुख Henrietta H. Fore हैं।

 

 

 

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त

United Nations - संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त

  • शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र उच्चायुक्त कार्यालय (यूएनएचसीआर) की स्थापना 14 दिसंबर, 1950 को की गयी।
  • इसका लक्ष्य शरणार्थियों के साथ मानवीय व्यवहार सुनिश्चित करना तथा शरणार्थी समस्या का स्थायी समाधान ढूंढ़ना है।
  • इसका मुख्यालय जेनेवा में स्थित है। 1955 और 1981 में इसको नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।
  • पुर्तगाल के एंटोनियो ग्यूटरेस 2005 से इस एजेंसी के उच्चायुक्त हैं।

 

संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या गतिविधि कोष

United Nations -संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या गतिविधि कोष

  • संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या गतिविधि कोष (UNFPA) की शुरुआत 1969 से की गयी।
  • 1987 में इसका नाम बदलकर संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष कर दिया गया। मुख्यालय न्यूयॉर्क में स्थित है।
  • इसका उद्देश्य जनसंख्या नियंत्रण एवं परिवार नियोजन के कार्यक्रमों को समन्वित करना एवं उन्हें प्रोत्साहन देना है।
  • इसके अलावा यह विकसित एवं विकासशील देशों में जनसंख्या की समस्याओं से जूझने के लिए सहायता भी प्रदान करता है।
  • इसका मुख्यालय न्यूयॉर्क में स्थित है।
  • इसके प्रमुख Natalia Kanem हैं।

 

 

अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ

United Nations - अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ

  • अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (International Telecommunication Union: ITU) सूचना एवं दूरसंचार तकनीक से संबंधित संयुक्त राष्ट्र का एक अग्रणी अभिकरण है। यह सबसे पुरानी अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं में से एक है।
  • इसका नाम पहले अंतर्राष्ट्रीय टेलिग्राफ संघ (International Telegraph Union) था, जिसकी स्थापना पेरिस में 17 मई, 1865 को की गयी थी।
  • सभी प्रकार के दूरसंचार के प्रयोग में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बनाये रखना एवं उसका विस्तार करना तथा दूरसंचार संबंधी क्षेत्रीय सुविधाओं को प्रोत्साहित करना इसके उद्देश्यों में शामिल है।
  • इसका मुख्यालय जेनेवा में स्थित है। इसके प्रमुख Houlin Zhao हैं।

 

 

 

विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (World Intellectual Property Organization) -WIPO

United Nations - World Intellectual Property Organization

  • विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (WIP0: World Intellectual Property Organization) संयुक्त राष्ट्र की 16 विशिष्ट एजेंसियों में से एक है।
  • 1967 में वाइपो की स्थापना हुई तथा अप्रैल 1970 में यह कार्यशील हुआ, लेकिन 1974 में जाकर यह संयुक्त राष्ट्र का एक विशेष अभिकरण बना।
  • इसका मुख्यालय जेनेवा (स्विट्जरलैंड) में स्थित है। फ्रांसिस गुरे 1 अक्टूबर, 2008 से इसके महानिदेशक हैं।
  • इसका उद्देश्य बौद्धिक संपदाओं के आकलन एवं उनसे संबंधित समझौतों को संपन्न कराना है।

 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)

United Nations - विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)

  • यह संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations) की एक विशिष्ट एजेंसी है, जो अंतर्राष्ट्रीय लोक स्वास्थ्य पर एक समन्वय प्राधिकरण के रूप में कार्य करती है।
  • इसकी स्थापना 7 अप्रैल, 1948 को की गयी थी।
  • इसका मख्यालय जेनेवा (स्विट्जरलैण्ड) में है। इसके कुल सदस्य World Health 194 हैं।
  • संगठन की स्थापना के दिन को ही Organisation विश्व स्वास्थ्य दिवस (7 अप्रैल) के रूप में मनाया जाता है।
  • 26वें सदस्य के रूप में भारत इसमें शामिल हुआ था।
  • डब्ल्यूएचओ, संक्रामक बीमारियों, जैसे- सार्स, मलेरिया, टीबी, स्वाइन फ्लू और एड्स की रोकथाम हेतु अंतर्राष्ट्रीय प्रयासों के अतिरिक्त इन बीमारियों के उपचार और रोकथाम हेतु विभिन्न कार्यक्रमों का प्रायोजक भी है।
  • इसके प्रमुख Tedros Adhanom हैं।

Must see video to understand more better

Download the United Nations and its specialized agencies Article PDF

 

United Nations source